world women boxing championship: top boxer wary of Delhi’s air pollution | दिल्ली की जहरीली हवा के कारण खिलाड़ियों को सांस लेने में परेशानी हो रही

43

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

world women boxing championship: top boxer wary of Delhi’s air pollution | दिल्ली की जहरीली हवा के कारण खिलाड़ियों को सांस लेने में परेशानी हो रही

world women boxing championship: top boxer wary of Delhi’s air pollution | दिल्ली की जहरीली हवा के कारण खिलाड़ियों को सांस लेने में परेशानी हो रही
2018-11-27 15:14:02

दिल्ली में पांच नवंबर को एयर क्वालिटी इंडेक्स 600 से 700 के बीच रिकॉर्ड हुआ था
भारत में 15 से 24 दिसंबर तक होनी है विश्व महिला मुक्केबाजी चैम्पियनशिप


Dainik BhaskarNov 11, 2018, 07:09 PM IST

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली में 15 दिसंबर से एआईबीए वर्ल्ड चैम्पियनशिप होनी है। इसमें भाग लेने के लिए दुनिया भर की महिला मुक्केबाज यहां आई हुईं हैं। इनमें से कुछ पर यहां की जहरीली हवा का बुरा असर पड़ा है। उन्हें सांस लेने में कठिनाई हो रही है। हालांकि, अपने आतिथ्य के लिए मशहूर भारतीयों की मेजबानी से विदेशी खिलाड़ी काफी खुश नजर आ रहे हैं। 

मुक्केबाजों ने कहा- ऐसी हवा में अभ्यास करना भी मुश्किल

2014 में 57 किग्रा भार वर्ग में वर्ल्ड चैम्पियन रहीं बुल्गारिया की स्टैनिमिरा पेट्रोवा ने बताया, ‘हम अच्छा नहीं महसूस कर रहे हैं। यहां की हवा दूसरी कहीं भी जगह से खराब है। हमे सांस लेने में थोड़ी परेशानी हो रही है। इस तरह की हवा में अभ्यास करना बहुत मुश्किल है।’



यूरोपियन चैम्पियनशिप में कांस्य पदक जीत चुकीं अल्बानिया की ऐजी निमानी भी पेट्रोवा से सहमत दिखीं। उन्होंने कहा, ‘मैं पहली बार भारत आई हूं। ईमानदारी से कहूं तो मुझे लगता है कि यह शहर थोड़ा और साफ किया जा सकता है, लेकिन यहां के लोग बहुत अच्छे हैं।’



ऐजी निमानी ने 2016 रियो ओलिंपिक में 51 किग्रा भार वर्ग के क्वालिफायर में पांच बार की वर्ल्ड चैम्पियन भारत की मैरीकॉम को हरा दिया था। निमानी स्वीकारती हैं कि उन्हें सांस लेने में कठिनाई एक मुद्दा है, लेकिन चैम्पियनशिप के लिए पहले से ही यहां पहुंचने के कारण वे इससे तालमेल बैठा लेंगी।



उन्होंने कहा, ‘सांस लेने में थोड़ी परेशानी है। ईमानदारी से कहूं तो इसलिए मैं यहां एक सप्ताह पहले आ गई थी, ताकि अपनी बाउट के लिए यहां के वातावरण से तालमेल बैठा सकूं।’ 



2016 वर्ल्ड चैम्पियनशिप में रजत पदक जीतने वालीं स्टोयका पेट्रोवा ने बताया कि हवा की क्वालिटी का बाउट पर कोई असर नहीं पड़ेगा, क्योंकि यह सभी मुक्केबाज इसी हवा में सांस ले रहे हैं। उन्होंने कहा, ‘मुझे नहीं लगता इससे (हवा की गुणवत्ता) कोई समस्या होगी।’



बता दें कि पंजाब और हरियाणा में पराली जलाए जाने से दिल्ली और राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) की हवा की गुणवत्ता प्रभावित हुई है। सुप्रीम कोर्ट ने दीपावली के दिन लोगों के पटाखे चलाने से मना किया था, ताकि स्थिति और बदतर न हो जाए।




Source – Dainik Bhaskar



world women boxing championship: top boxer wary of Delhi’s air pollution | दिल्ली की जहरीली हवा के कारण खिलाड़ियों को सांस लेने में परेशानी हो रही
2018-11-27 15:14:02

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy