Photo of Indian Army officer consoling father of slain soldier | जब तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचा शहीद का शव, हर आंख थी नम, आर्मी अफसर ने पिता को ऐसे संभाला

52

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Photo of Indian Army officer consoling father of slain soldier | जब तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचा शहीद का शव, हर आंख थी नम, आर्मी अफसर ने पिता को ऐसे संभाला

Photo of Indian Army officer consoling father of slain soldier | जब तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचा शहीद का शव, हर आंख थी नम, आर्मी अफसर ने पिता को ऐसे संभाला
2018-11-30 15:00:03

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के शोपियां जिले में रविवार को ऑपरेशन ऑलआउट में लांस नायक नजीर अहमद वानी शहीद हो गए। जब तिरंग में लिपटकर उनका शव घर पहुंचा तो गांव के लोगों की आंखें नम हो गईं। शहीद जवान के पिता बेटे का शव देखकर खुद को नहीं संभाल पाए और रोने लगे। भारतीय सेना ने ये फोटो शेयर करते हुए लिखा- ”आप अकेले नहीं हैं। हम आपके साथ हैं।” वानी कभी खुद आतंकी थे लेकिन बाद में उन्होंने सरेंडर कर दिया था सेना में शामिल हो गए थे। सेना में वीरता के लिए उन्हें दो बार सम्मानित भी किया जा चुका है।

आर्मी ने बताया- सच्चा सैनिक

– वानी को बाटागुंड में मुठभेड़ के दौरान गोलियां लगी थी। जख्मी होते ही उन्हें अस्पताल ले जाया गया लेकिन इलाज के दौरान उनकी मौत हो गई। इस मुठभेड़ में 6 आतंकी भी मारे गए थे।

– सोमवार को तिरंगे में लपेटा हुआ उनका शव उनके पैतृक गांव पहुंचा, जहां 21 तोपों की सलामी के साथ उन्हें सुपुर्द-ए-खाक किया गया।

– आर्मी ने वानी को अपना सच्चा सैनिक बताया है। उन्हें 2007 और इस साल अगस्त में वीरता के लिए सेना मेडल से सम्मानित किया गया था।

एक आतंकी से आर्मी मैन तक

– सेना के प्रवक्ता ने बताया कि लांस नायक नजीर अहमद वानी कुलगाम तहसील के चेकी अश्मूजी गांव के रहने वाले थे। उनके परिवार में पत्नी और दो बच्चे भी हैं।

– नजीर पहले आतंकवाद के रास्ते पर थे, लेकिन उन्होंने बाद में इससे किनारा कर लिया। फिर 2004 में उन्होंने अपने करियर की शुरुआत टेरिटोरियल आर्मी की 162वीं बटालियन से की थी।

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.



Photo of Indian Army officer consoling father of slain soldier | जब तिरंगे में लिपटकर घर पहुंचा शहीद का शव, हर आंख थी नम, आर्मी अफसर ने पिता को ऐसे संभाला
2018-11-30 15:00:03

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy