In Pakistani village, home is where the cave is | गुफा के अंदर बने घरों में रहते हैं 3000 लोग, भूकंप और बम से बर्बादी का खतरा नहीं

83

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

In Pakistani village, home is where the cave is | गुफा के अंदर बने घरों में रहते हैं 3000 लोग, भूकंप और बम से बर्बादी का खतरा नहीं

In Pakistani village, home is where the cave is | गुफा के अंदर बने घरों में रहते हैं 3000 लोग, भूकंप और बम से बर्बादी का खतरा नहीं
2018-11-30 16:58:24

  • इस्लामाबाद से 60 किमी दूर एक गांव में लोग 500 साल से इस तरह रह रहे
  • घर बनाने की तुलना में गुफा बनाना सस्ता, सिर्फ 40 हजार रुपए लागत

Dainik Bhaskar

Nov 21, 2018, 07:41 AM IST

इस्लामाबाद. पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद से 60 किमी दूर हसन अब्दल गांव में करीब 3000 लोग गुफा बनाकर रह रहे हैं। गुफा में घर जैसी सारी सुविधाएं होती हैं। इलाके के काउंसलर हाजी अब्दुल रशीद भी गुफा में ही रहते हैं।

500 सालों से गुफा में रह रहे

  1. आमतौर पर इन घरों (गुफा) को लोग खुद ही बनाते हैं। दीवारों पर प्लास्टर किया जाता है। लोगों का कहना है कि इसके चलते भूस्खलन का खतरा नहीं रहता। रशीद कहते हैं कि अगर हम मिट्टी का घर बनाएंगे तो वह बारिश में ढह जाएगा। लेकिन इसके गिरने का खतरा नहीं है। हमारी गुफा तो भूकंप और बमरोधी भी है।

  2. इलाके के लोग बीते 500 सालों से गुफा में रह रहे हैं। गुफा बनाने के पीछे वजह यह है कि इसका निर्माण सस्ता है। रहवासी अमीरउल्ला खान का कहना है कि गर्मी में 40 डिग्री सेल्सियस तापमान में भी गुफा के अंदर ठंडक रहती है। सर्दियों में गर्माहट रहती है। घर बनाने में कम से कम ढाई लाख रुपए लगते हैं, वहीं गुफा महज 40 हजार रुपए में बन जाती है। हालांकि गुफा की अपनी दिक्कतें भी हैं। यहां सूर्य की रोशनी नहीं पहुंच पाती।



Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.



In Pakistani village, home is where the cave is | गुफा के अंदर बने घरों में रहते हैं 3000 लोग, भूकंप और बम से बर्बादी का खतरा नहीं
2018-11-30 16:58:24

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy