Arvind Subramanian said Demonetisation a massive draconian monetary shock | नोटबंदी का फैसला बेहद सख्त था, इससे आर्थिक विकास दर धीमी हुई: अरविंद सुब्रमण्यन

62

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Arvind Subramanian said Demonetisation a massive draconian monetary shock | नोटबंदी का फैसला बेहद सख्त था, इससे आर्थिक विकास दर धीमी हुई: अरविंद सुब्रमण्यन

  • नोटबंदी पर पहली बार बोले पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार
  • उन्होंने अपनी आने वाली किताब में इस पर चैप्टर लिखा
  • सुब्रमण्यन ने यह नहीं बताया कि नोटबंदी पर उनसे राय ली गई थी या नहीं

Dainik Bhaskar

Nov 29, 2018, 12:24 PM IST

नई दिल्ली. पूर्व मुख्य आर्थिक सलाहकार अरविंद सुब्रमण्यन ने दो साल पहले हुई नोटबंदी को मोदी सरकार का काफी सख्त और अर्थव्यवस्था को झटका देने वाला फैसला बताया है। इससे जीडीपी ग्रोथ रेट सात महीने के सबसे निचले स्तर 6.8% पर पहुंच गई थी, जबकि नोटबंदी से पहले यह 8% थी।

 

सुब्रमण्यन ने पहली बार नोटबंदी पर बयान दिया। उन्होंने कहा कि विकास दर की रफ्तार नोटबंदी से पहले भी धीमी पड़ी थी, लेकिन बाद में इसमें तेज गिरावट आई। सुब्रमण्यन ने कहा कि उनके पास इस तथ्य के अलावा कोई ठोस नजरिया नहीं है कि औपचारिक सेक्टर में वेलफेयर कॉस्ट उस वक्त पर्याप्त थी।

नोटबंदी के वक्त मुख्य आर्थिक सलाहकार थे सुब्रमण्यन

  1. सुब्रमण्यन ने अपनी आने वाली किताब ‘ऑफ काउंसिल: द चैलेंजेज ऑफ द मोदी-जेटली इकोनॉमी’ में नोटबंदी पर पूरा चैप्टर लिखा है। हालांकि, उन्होंने इस बात का खुलासा नहीं किया कि नोटबंदी के फैसले में उनसे राय ली गई थी या नहीं।

  2. सरकार के आलोचकों ने कहा था कि मुख्य आर्थिक सलाहकार से मशविरा नहीं किया गया था। नवंबर 2016 में नोटबंदी के दौरान सुब्रमण्यन मुख्य आर्थिक सलाहकार थे। उन्होंने इसी साल पद छोड़ा है।

  3. सुब्रमण्यन ने ‘टू पजल ऑफ डिमॉनेटाइजेशन’ चैप्टर में लिखा है कि नोटबंदी के पहले के 6 हफ्तों में विकास दर औसत 8% थी। लेकिन, बाद के 7 हफ्तों में यह एवरेज 6.8% रह गई।

  4. सुब्रमण्यन का कहना है कि उन्हें नहीं लगता कि इस बात पर किसी को आपत्ति है कि नोटबंदी के बाद ग्रोथ धीमी हुई, बल्कि बहस इस बात पर है कि असर कितना पड़ा। क्या यह 2% घटी या फिर इससे भी ज्यादा? उस दौरान ऊंची ब्याज दरों, जीएसटी और तेल की कीमतों की वजह से भी ग्रोथ पर असर पड़ा था।

  5. सुब्रमण्यन के मुताबिक नोटबंदी एक अनोखा फैसला था। आधुनिक इतिहास में ऐसा कोई उदाहरण नहीं है, जब सामान्य परिस्थितियों में किसी देश ने नोटबंदी जैसा फैसला लिया हो।



Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

2018-12-05 22:05:44

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy