बचपन में भरतनाट्यम सीख रही थी मिताली, लेकिन पिता ने थमा दिया बल्ला

71

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

बचपन में भरतनाट्यम सीख रही थी मिताली, लेकिन पिता ने थमा दिया बल्ला

[og_img]

स्पोर्ट्स डेस्क: भारतीय महिला क्रिकेट टीम की सबसे अहम खिलाड़ी मिताली राज आज अपना 36वां बर्थडे सेलिब्रेट कर रही हैं। मिताली उन प्लेयर्स में से हैं जिन्होंने महिला क्रिकेट में देश का नाम इंटरनेशनल स्तर रोशन किया है। 3 दिसंबर 1982 को राजस्थान के जोधपुर में जन्मी मिताली टेस्ट और वनडे में दुनिया की सबसे भरोसेमंद बल्लेबाज के रूप में पहचानी जाती 17 साल की उम्र में मिताली को भारतीय क्रिकेट टीम में शामिल किया गया।

इन रिकॉर्ड्स की वजह से कहा जाता है 'लेडी तेंदुलकर'
मिताली ने टीम इंडिया के लिए 197 वनडे, 10 टेस्ट और 85 टी-20 मैचे खेले हैं। वन-डे में 6550, टेस्ट में 663 और टी-20 में 2283 रन उनके नाम दर्ज हैं। टेस्ट में उनके नाम एक शतक और 4 अर्धशतक, जबकि वन-डे में उन्होंने 7 शतक और 51 अर्धशतक लगाए हैं। जुलाई 2017 में वह वन-डे में 6 हजार रन बनाने वाली दुनिया की इकलौती बल्लेबाज बनी थी। मिताली ने अपने करियर में 197 वनडे मैच खेले हैं। इसमें उन्होंने 51 की औसत, 7 शतक और 51 अर्धशतकों की मदद से 6650 रन बनाए हैं। इसके अलावा उन्होंने 10 टेस्ट मैचों में 51 की औसत से 1 शतक और 4 अर्धशतकों के साथ कुल 663 रन बनाए हैं। मिताली वनडे क्रिकेट में 5000 से ज़्यादा रन बनाने वाली पहली भारतीय महिला खिलाड़ी हैं। इन्हीं रिकॉर्ड्स की वजह से उन्हें ‘महिला क्रिकेट का तेंदुलकर’ कहा जाता है।

Download Dainik Bhaskar App to read Latest Hindi News Today


mithali-raj-birthday-special video

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

2018-12-06 09:29:08

Images are for reference only.Images gathered automatic from google.All rights on the images are with their original owners.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments
Loading...

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More

Privacy & Cookies Policy